'मस्त मस्त गर्ल' रवीना टंडन के साथ बर्थडे स्पेशल

९० के दशक की मशहूर और बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक रवीना टंडन आज अपना ४१ वां जन्मदिन मन रहीं है| रवीना कहतीं है की उनके लिए फिल्म्स में काम करना एक शौक जैसा था,  उन्होंने बहुत सी कमर्शियल सक्सेस फिल्म्स भी की जैसे, 'दिलवाले', 'मोहरा', 'लाडला', 'खिलाडियों का खिलाडी', 'बड़े मियाँ छोटे मियां' ...आदि| ये ही नहीं रवीना ने 'शूल', 'बुलंदी', और 'अक्स' जैसे ऑफ बीट सिनेमा में भी अपने आपको अच्छे कलाकार के रूप में साबित किया| और इनके लिए उन्हें २००२ में फिल्मफेर स्पेशल परफॉरमेंस का अवार्ड भी मिला| २००१ में रवीना लाइमलाइट में आई कल्पना लाजमी की फिल्म 'दामन' से जिसमे उन्होंने एक पीड़ित पत्नी का रोल निभाया था, इस फिल्म में उनके जबरदस्त परफॉरमेंस के लिए न ही उन्हें क्रिटिक्स ने सराहा बल्कि उन्हें नेशनल अवार्ड से भी नवाज़ा गया| बाद में रवीना कमर्शियल और ऑफ बीट सिनेमा दोनों करने लगी जैसे, 'अग्नि वर्षा' 'सत्ता', 'LOC-कारगिल', 'आन ', 'दोबारा', 'सैंडविच', 'बुड्ढा होगा तेरा बाप'| यहाँ रवीना ने खुद अपनी पसंदीदा फिल्मो के बारे में बताया है -    
 
१. पत्थर के फूल(१९९१): ये रवीना की डेब्यू मूवी थी जिनमे उनके साथ थे सलमान खान, जिन्होंने पुलिस ऑफिसर का किरदार निभाया था जो अंडरवर्ल्ड गैंग के खिलाफ लड़ता है| इस फिल्म को फिल्मफेर के न्यू फेस अवार्ड से नवाज़ा गया था| "सलमान और मैं सेट पर बच्चों की तरह लड़ते थे मगर आज हम बहुत अच्छी दोस्ती निभाते हैं| मैं उनकी बहुत इज्ज़त करतीं हूँ वो मेरे मुश्किल समय में हमेशा मेरे साथ खड़े थे|"
 
 
२. अंदाज़ अपना अपना (१९९४): कमर्शियली भले ही ये फिल्म फ़ैल हो गई थी मगर इस फिल्म की अपनी एक कहानी है| लोग आज भी इस फिल्म को याद करतें है और बेहद पसंद भी करते हैं| "उन दिनों मैं आमिर खान के साथ एक के बाद एक लगतार चार फ़िल्में कर रहीं थी| आमिर हमेशा से ही फ़िल्मी इंडस्ट्री के प्रैंकस्टार थे और वो हमेशा मुझे किसी ना किसी परेशानी में डाल ही देते थे|"
 
 
३. मोहरा/दिलवाले (१९९४) : मोहरा से ही रवीना को मिला ''मस्त मस्त गर्ल'' का ख़िताब|  "मोहरा फिल्म की सक्सेस पार्टी पर जब मैं पोहंची तब मैं सातवें आसमान पर थी क्यूंकि डायरेक्टर राजीव् राय की पत्नी ने मुझसे आकर कहा की मैं उनके लिए बेहद लकी हूँ| दिलवाले मेरी पहली फिल्म थी जो प्लैटिनम जुबली तक पोहंची|" 
 
 
 
४. दामन (२००१) : ये फिल्म रवीना के लिए बेहद स्पेशल है क्यूँकी इस फिल्म के लिए रवीना को नेशनल अवार्ड मिला था| इस फिल्म में रवीना ने वायलेंस की शिकार पत्नी का रोल निभाया था|
 
 
५. अक्स (२००१) : ये फिल्म सुपरनेचुरल थ्रिलर थी और लोगो ने इस फिल्म को बहुत पसंद किया| ये फिल्म रवीना के लिए बेहद मुश्किल फिल्मों में से एक थी क्यूंकि इस फिल्म में उन्हें अमिताभ बच्चन के साथ बेहद क्लोज सीन्स देने थे|  अमिताभ ने 'मजबूर' और 'खुद्दार' जैसी फिल्मों में रवीना के पिता का रोल निभाया था इसलिए उनके साथ इस तरह के सीन देना रवीना के लिए मुश्कील था| "अमिताभ जी के लिए मेरे दिल में हमेशा से इज्ज़त रही है, और उनसे ऐसे क्लोज आना, फिल्मों में भी मेरे लिए अजीब था| मैं जैसे एक्टिंग भूल गई थी| मैं हर सीन के बाद कोने में जाकर अकेले बैठती थी| और इस बात का पता अमित जी को भी चला गया था जो की मुझे बिलकुल अच्छा नहीं लगा था|"
 

For the latest in Bollywood, TV & Fashion download our updated Android App OR our iOS App.

You May Also Like These

Post new comment